पुस्तक समीक्षा: 1084 की माँ - महाश्वेता देवी

2nd February 2022

1084 वे की माँ – लीक से हटकर लेखन, वंचितों-शोषितों के लिए समाज में सम्मानजनक स्थान के लिए प्रतिबद्ध महाश्वेता देवी की यह सर्वाधिक प्रसिद्धि कृति है ! इस उपन्यास को कई भाषाओ में सराहना मिली और अब इस उपन्यास पर गोविंद निहलानी की फिल्म भी बन चुकी है !
 

और देखें

आर्काइव